Monday, May 13, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयबड़े स्तर पर वार्डों के परिसीमन में अनियतित्ताओं के खिलाफ बड़े पैमाने...

बड़े स्तर पर वार्डों के परिसीमन में अनियतित्ताओं के खिलाफ बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन करेगी : कांग्रेस

  • – उपराज्यपाल द्वारा दिल्ली जल वोर्ड में धन के गबन पर एफ.आई.आर. दर्ज करने का आदेश दिए जाने से केजरीवाल सरकार का एक और घोटाला सामने आया–चौ. अनिल कुमार

नई दिल्ली, 25 सितंबर, 2022:दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार ने आज दलित, अल्पसंख्यक नेताओं और विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर परिसीमन समिति की रिपोर्ट पर खामियों पर चर्चा की, जिसमें दलितों और अल्पसंख्यकों को किनारे कर एमसीडी द्वारा वार्डों का निर्धारण कर भाजपा के इशारे पर अत्यधिक पक्षपात दिखाया है। उन्होंने कहा कि दिल्ली कांग्रेस जल्द ही परिसीमन रिपोर्ट के विरोध में बड़ स्तर पर एक कार्यकर्ता सम्मेलन व विरोध प्रदर्शन का आयोजन करेगी और यदि चुनाव आयोग दिल्ली कांग्रेस द्वारा परिसीमन पर सुझाव व अपत्तियों को स्वीकार नहीं करता है, तो कांग्रेस पार्टी पूरे दिल्ली में आंदोलन करेगी।

आज की इस बैठक में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ. अनिल कुमार के अलावा दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के उपाअध्यक्ष एवं पूर्व विधायक जय किशन, पूर्व विधायक हरिशंकर गुप्ता, पूर्व विधायक अमरीष सिंह गौतम, पूर्व विधायक विजय सिंह लोचव व दिल्ली कांग्रेस एस.सी. सैल के चैयरमेन संजय नीरज, दिल्ली कांग्रेस अल्पसंख्यम विभाग के चैयरमेन अब्दुल वाहिद कुरैशी, व डा. नरेश कुमार सहित भारी संख्या में दलित व अल्पसंख्यक समुदाय के गणमान्य मौजूद थे।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल की दिल्ली सरकार का एक और भ्रष्टाचार पर उपराज्यपाल ने दिल्ली जल बोर्ड के कर्मचारियों के खिलाफ 20 करोड़ रुपये के गबन के लिए एफ.आई.आर. दर्ज करने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि बिल वसूली का पैसा जो दिल्ली जल बोर्ड के खाते में जाना चाहिए था केजरीवाल सरकार में व्याप्त घोर भ्रष्टाचार के चलते वो पैसा कुछ कर्मचारियों की जेब में चला गया जो केजरीवाल सरकार को पूरी तरह से भ्रष्टाचार में लिप्त होने का एक और सबूत है। उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल द्वारा केजरीवाल सरकार के खिलाफ शराब घोटाले, कक्षा निर्माण घोटाले, सरकारी स्कूलों में अतिथि शिक्षकों को भुगतान और डीटीसी बसों की खरीद और रखरखाव के लिए ठेके की जांच के आदेश के बाद केजरीवाल के एक के बाद एक विभिन्न भ्रष्ट कार्य और घोटाले सामने आ रहे हैं।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि यह बात किसी से छुपी नहीं है कि दिल्ली जल बोर्ड सबसे भ्रष्ट विभाग है क्योंकि इससे पहले आप पार्टी के जेल में बंद मंत्री सत्येंद्र जैन और सांसद राघव चड्ढा भ्रष्टचार करने में प्रमुख रह चुेके है। उन्होंने कहा कि जब राघव चड्ढा उपाध्यक्ष थे तब दिल्ली जल बोर्ड से करोड़ रूपयों का गबन किया गया था क्योंकि आप पार्टी के विधायकों द्वारा नियंत्रित टैंकर माफियाओं ने दिल्ली जल बोर्ड को खोखला कर दिया है। उन्होंने कहा कि चड्ढा को गुजरात में आप पार्टी का विधानसभा चुनाव प्रभारी बनाया गया है ताकि उनके द्वारा जो पैसा इकठ्ठा किया गया है उसका फायदा चुनाव में उठाया जा सके।

चौ. अनिल कुमार ने कहा कि चूंकि वर्तमान दिल्ली जल बोर्ड फंड गबन में कर्मचारी शामिल हैं, मनीष सिसोदिया ने प्राथमिकी दर्ज करने के उपराज्पाल के आदेश का स्वागत किया है, हालांकि उन्होंने शराब घोटाले में अपना खुद का अपराध स्वीकार नहीं किया है जिसमें वें खुद सीबीआई प्राथमिकी में आरोपी नंबर 1 है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments