Tuesday, May 14, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयद्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने के अवसर पर प्रदेश भाजपा ने निकाली...

द्रौपदी मुर्मू के राष्ट्रपति बनने के अवसर पर प्रदेश भाजपा ने निकाली अभिनंदन यात्रा

– लगन से की गई समाज सेवा का परिणाम है द्रौपदी मुर्मू का राष्ट्रपति बनना
– द्रौपदी मुर्मू का प्रथम नागरिक बनना नरेन्द्र मोदी की सबका साथ सबका विकास नीति का परिणाम है
– द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद पर देखकर कई महिलाएं उनसे प्रेरित होंगी

नई दिल्ली, 21 जुलाई 2022: दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता की अगुवाई में गुरुवार को अनुसूचित जनजाति समाज से देश की पहली महिला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के बनने पर अभिनंदन यात्रा निकाली। प्रदेश कार्यालय से शुरु हुई यह अभिनंदन यात्रा दिल्ली के पंत मार्ग होते हुए गोल डाकखाना-अशोका रोड-रायसीना मार्ग से होकर राजपथ तक गया। ढोल नागाड़ों के साथ निकाली गई इस अभिनंदन यात्रा के दौरान दिल्ली की जनता ने फूलों की बौछार कर सभी का स्वागत किया।

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री मीनाक्षी लेखी, नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी, प्रदेश सह-प्रभारी डॉ अलका गुर्जर, सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन, सांसद मनोज तिवारी एवं रमेश बिधूड़ी, पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय गोयल, प्रदेश महामंत्री कुलजीत सिंह चहल, हर्ष मल्होत्रा एवं दिनेश प्रताप सिंह, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विजेन्द्र गुप्ता, असम के सह-प्रभारी पवन शर्मा सहित प्रदेश, मोर्चा एवं जिला के अन्य पदाधिकारियों सहित हज़ारों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।  

आदेश गुप्ता ने अभिनंदन जुलूस को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया और कहा कि सबका साथ सबका विकास सबका विश्वास और सबका प्रयास को चरितार्थ करते हुए अनुसूचित जनजाति समाज से आने वाली महिला को देश के सर्वोच्च पद पर बैठाकर सबको एक आशा और विश्वास दिया है कि सच्ची मेहनत और लगन की पहचान सार्थक परिणाम देगी। द्रौपदी मुर्मू को एक कुशल व्यक्तित्व की धनी महिला बताते हुए उन्होंने कहा कि उनका व्यक्तित्व महिलाओं को प्रेरित करने वाला है।

आदेश गुप्ता ने कहा कि जीवन में आने वाली तमाम समस्याओं के बावजूद द्रौपदी मुर्मू सामाजिक सेवा करने से पीछे नहीं हटी। स्वतंत्र भारत के इतिहास में द्रौपदी मुर्मू के रूप में पहली बार किसी आदिवासी महिला को सर्वोच्च पद मिलना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा लिया गया एक ऐतिहासिक निर्णय है। उन्होंने कहा कि द्रौपदी मुर्मू आजीवन महिला, गरीब, आदिवासियों के लिए काम करती रही हैं। जिंदगी में जो भी चुनौती आई, उसे स्वीकार किया है और हमेशा अच्छा बनने का प्रयास किया है। आज पूरी दिल्ली उनके राष्ट्रपति बनने पर हाथ खोल कर उनका स्वागत कर रही है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments