Homeताजा खबरेंबच्चों में कुपोषण को खत्म करना है, बच्चों के विकास के लिए...

बच्चों में कुपोषण को खत्म करना है, बच्चों के विकास के लिए पौष्टिक आहार आवश्यक है : राजेंद्र पाल गौतम

  • कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने महिलाओं को 15,000 स्पेशल सैनिटरी नैपकिन वितरित किए
  • मंत्री ने बाबरपुर, गोकलपुर और रोहतास नगर विधानसभा क्षेत्रों में बच्चों को पौष्टिक स्नैक्स और बिस्कुट भी वितरित किए
  • यही कारण है कि हमने 15000 विशेष सेनेटरी नैपकिंस वितरित करें जो 2 वर्षों तक पुन: प्रयोज्य हैं।

नई दिल्ली : रविवार को कैबिनेट मंत्री राजेंद्र पाल गौतम ने सीमापुरी विधानसभा क्षेत्र में सीमापुरी, सुंदर नगरी और नंद नगरी क्षेत्र में तथा बाबरपुर, रोहतास नगर, गोकलपुरी विधानसभा के क्लस्टर में 15,000 सैनिटरी पैड्स वितरित कराए। सैनिटरी नैपकिंस के साथ-साथ बच्चों को पौष्टिक स्नैक्स और बिस्किट भी वितरित किए गए।  “क्लस्टर्स और झुग्गियों में रहने वाली महिलाओं के पास सैनिटरी नैपकिंस आसानी से उपलब्ध नहीं होते। माहवारी के समय साफ सफाई और स्वच्छता बहुत आवश्यक है। लेकिन घरों में टॉयलेट न होने की वजह से उन्हें शौचालयों में जाना पड़ता है। जिससे कई गंभीर संक्रमण लगने का खतरा रहता है।

मई में, महिला विकास मंत्री राजेंद्र पाल गौतम और दिल्ली बाल संरक्षण आयोग ने “मासिक धर्म स्वच्छता अभियान” शुरू किया था जिसमें उन्होंने पूर्वी दिल्ली और उत्तर पूर्व जिलों में महिलाओं को 1 लाख सेनेटरी नैपकिन वितरित किए थे। सैनिटरी नैपकिन के साथ, डब्ल्यूसीडी मंत्री ने बाबरपुर, गोकलपुर और रोहतास नगर विधानसभा के विभिन्न क्षेत्रों में बच्चों को पौष्टिक स्नैक्स और बिस्कुट भी वितरित किए। “किसी भी समाज की प्रगति को उसके बच्चों के स्वास्थ्य के साथ सीधे मापा जा सकता है। लॉकडाउन के दौरान, महिला विकास और दिल्ली बाल संरक्षण आयोग ने दिल्ली में बच्चों में 8,000 + दूध के पैकेट, 50,000+ पौष्टिक बिस्कुट और 5000+ किलोग्राम वितरित किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × 2 =

Must Read