Wednesday, July 10, 2024
Homeअंतराष्ट्रीयदिल्ली ईवी नीति के तहत 3 लाख रुपये तक की प्रोत्साहन राशि...

दिल्ली ईवी नीति के तहत 3 लाख रुपये तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है : कैलाश गहलोत

  • दिल्ली, वायु प्रदूषण को मात देने के लिए इलेक्ट्रिक चार पहिया वाहन खरीदने पर प्रोत्साहन देने वाला देश का पहला राज्य है
  • दिल्ली ईवी नीति के तहत 3 लाख रुपये तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है, जिसमें 1.5 लाख सब्सिडी
  • पंजीकरण और रोड टैक्स छूट शामिल है, यह देश के किसी भी राज्य में सबसे अधिक सब्सिडी है
  • स्विच दिल्ली ईवी जन जागरूकता अभियान के तीसरे सप्ताह में चौपहिया वाहन मालिकों को इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के लाभों से अवगत कराया जाएगा
  • निजी वाहन चालक डीजल कार से इलेक्ट्रॉनिक वाहन पर स्विच कर प्रति माह 1050 रुपए बचा सकते हैं
  • दिल्ली की ईवी नीति के तहत 12 चौपहिया वाहनों के मॉडल प्रोत्साहन और खरीद के लिए उपलब्ध हैं
  • दिल्ली सरकार अपनी सभी कारों को इलेक्ट्रिक में बदलने का निर्णय किया है
  • दिल्ली सरकार के अधिकारियों के आवागमन के लिए उपयोग की जाने वाली सभी लीज  या किराए की कारों को छह महीने के अंदर ईवी में बदल दिया जाएगा
  • स्विच दिल्ली अभियान, दिल्ली सरकार का एक आठ सप्ताह का जन जागरूकता अभियान है, ताकि हर एक दिल्ली वासी को इलेक्ट्रिक वाहनों में स्विच करने के फायदों के बारे में जागरूक किया जा सके, दिल्ली ईवी नीति का उद्देश्य दिल्ली की वायु गुणवत्ता में सुधार करना है

नई दिल्ली : स्विच दिल्ली ईवी जन जागरूकता अभियान के तीसरे सप्ताह में चौपहिया वाहन मालिकों को इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के लाभों से अवगत कराया जाएगा। परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने चार पहिया वाहनों के मालिकों से इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने की अपील की है। उन्होंने कहा कि इस सप्ताह हम दिल्लीवासियों को पेट्रोल या डीजल वाहनों के मुकाबले ईवी चार पहिया वाहनों के लाभों से अवगत कराएंगे। दिल्ली की ईवी नीति के तहत इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने पर कई ऑफर दिए जा रहे हैं।

दिल्ली, वायु प्रदूषण को मात देने के लिए इलेक्ट्रिक चार पहिया वाहन खरीद पर प्रोत्साहन देने वाला देश का पहला राज्य है। कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली ईवी नीति के तहत 3 लाख रुपये तक की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाती है। जिसमें 1.5 लाख सब्सिडी, पंजीकरण और रोड टैक्स छूट शामिल है। भारत के किसी भी राज्य में यह सबसे अधिक सब्सिडी है। दिल्ली ईवी नीति के तहत इलेक्ट्रिक कारों पर दी जाने वाली सब्सिडी इनकी कुल लागत को 30 प्रतिशत तक कम कर रही है। निजी वाहन चालक डीजल कार से ईवी पर स्विच कर प्रति माह 1050 रुपये की बचत कर सकते हैं। दिल्ली की ईवी नीति के तहत 12 चौपहिया वाहनों के मॉडल प्रोत्साहन और खरीद के लिए उपलब्ध हैं। ई-कार खरीदने के कई महत्वपूर्ण वित्तीय लाभ हैं।

कैलाश गहलोत ने कहा कि दिल्ली सरकार ने अपनी सभी कारों को इलेक्ट्रिक में बदलने की शुरुआत कर इस अभियान का नेतृत्व किया है। दिल्ली सरकार के अधिकारियों के आवागमन के लिए उपयोग की जाने वाली सभी लीज या किराए परली गई कारों को छह महीने की अवधि के अंदर इलेक्ट्रोक में परिवर्तित कर दिया जाएगा। हम दिल्ली को प्रदूषण मुक्त बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। यह लक्ष्य केवल लोगों के सहयोग और भागीदारी से ही हासिल किया जा सकता है। मैं सभी दिल्ली वालों से जो नया चार पहिया वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं, उनसे आग्रह करता हूं कि वो स्वच्छ, हरित इलेक्ट्रिक वाहन खरीदें। वित्तीय लाभों के अलावा महत्वपूर्ण पर्यावरणीय लाभ हैं। हमें दिल्ली की वायु गुणवत्ता को सुधारने के लिए एक साथ आना होगा और अपनी भागीदारी निभानी होगी।

दिल्ली सरकार ने दिल्ली में ईवी वाहनों की चार्जिंग को लेकर लोगों की आशंकाओं को दूर करने के लिए जमीन पर काम शुरू कर दिया है। दिल्ली में पहले से ही 70 से अधिक सार्वजनिक चार्जिंग स्टेशन चालू हैं। इसके अतिरिक्त 100 स्थानों पर जल्द ही 500 चार्जिंग पॉइंट शुरू हो रहे हैं। स्विच दिल्ली, दिल्ली सरकार द्वारा एक आठ सप्ताह का जन जागरूकता अभियान है, ताकि प्रत्येक दिल्ली वासी को पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों में स्विच करने के फायदों के बारे में जागरूक किया जा सके। साथ ही, उन्हें दिल्ली की ईवी नीति के तहत विकसित किए जा रहे प्रोत्साहनों और बुनियादी ढांचे के बारे में संवेदनशील बनाया जा सके। इस अभियान का उद्देश्य दिल्ली में प्रत्येक व्यक्ति को प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों से शून्य उत्सर्जन वाले इलेक्ट्रिक वाहनों में बदलने के लिए बताना, प्रोत्साहित करना और प्रेरित करना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments