Homeताजा खबरेंआबकारी नीति के सहारे केजरीवाल सरकार ने लगभग 5000 करोड़ का घोटाला...

आबकारी नीति के सहारे केजरीवाल सरकार ने लगभग 5000 करोड़ का घोटाला किया है : भाजपा

  • – भाजपा ने नई आबकारी नीति के विरोध में सिसोदिया के आवास पर किया प्रचंड विरोध प्रदर्शन – सिसोदिया गिरफ्तार नहीं हो जाते तब तक भाजपा का यह प्रदर्शन जारी रहेगा

नई दिल्ली, 23 जुलाई, 2022 : दिल्ली भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने नई आबकारी नीति के तहत जनता की गाढ़ी कमाई का पैसा अपने जेबों में भरने का काम किया है, उसी की जांच करने का आदेश उपराज्यपाल ने दिया है, जिसका भारतीय जनता पार्टी स्वागत करती है। शनिवार को नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी के साथ नई आबकारी नीति के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए अध्यक्ष गुप्ता ने कहा कि आबकारी नीति के सहारे केजरीवाल सरकार ने लगभग 5000 करोड़ का घोटाला किया है जिसका डर केजरीवाल के चेहरे पर साफ दिखाई दे रहा है। श्री गुप्ता ने मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी की मांग की। प्रदर्शन के बाद श्री आदेश गुप्ता सहित भाजपा के अन्य पदाधिकारियों को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लिया। वहीं, नेता विपक्ष रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि मनीष सिसोदिया और केजरीवाल ने मिलकर दिल्ली में शराब के नाम पर लोगों को लूटने का काम किया है, जिसका हिसाब दिल्ली की जनता लेकर रहेगी और जब तक मनीष सिसोदिया गिरफ्तार नहीं हो जाते तब तक भाजपा का यह प्रदर्शन चलता रहेगा।

आदेश गुप्ता ने कहा कि नई आबकारी नीति तो दिल्लीवालों के लिए एक बहाना है इसके पीछे तो शराब माफियाओं  को फायदा पहुंचाने और अपनी जेबें भरने का काम किया गया। इसके कई उदाहरण ऐसे मिल जाएंगे जो बताते हैं कि आबकारी नीति के तहत केजरीवाल ने अपने लोगों को फायदा पहुंचाया। केजरीवाल शराब माफियाओं के दबाव में और खुद के जेब भरने की लालच में धृतराष्ट्र बने हुए हैं। पहले 2.5 फीसदी ठेकेदारों को मिलने वाली कमीशन को बढ़ाकर 12.5 फीसदी कर दिया। इसके बाद ड्राइ डे जो पहले 21 हुआ करता था उसे 3 दिन कर दिया क्योंकि केजरावाल ने इसके लिए शराब माफियाओं से एक मोटी रकम वसूल की है।

–  ब्लैक लिस्टेड कंपनी को ठेके किस आधार पर दिए गए
आदेश गुप्ता ने कहा कि एक ब्लैक लिस्टेड कंपनी को ठेके किस आधार पर दिए गए, यह दिल्ली की जनता जानना चाहती है। यही नहीं शराब की बोतलों पर खासकर विदेशी शराब पर पचास रुपये की छूट देने की परमिशन केजरीवाल ने किससे ली। इसके लिए उन्होंने कि कानूनी प्रक्रिया को फॉलो किया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल दिल्ली में अपनी मनमानी कर रहे हैं जबकि दिल्ली की जनता जो टैक्स के पैसे देती है, उसे केजरीवाल शराब माफियाओं के बीच रेवड़ी की तरह बांट रही हैं, जिसका असर दिल्ली के खजानों पर पड़ रहा है और यही कारण है कि पिछले सात सालों में कोई भी नया काम नहीं हुआ। ना ही कोई स्कूल बना और ना ही कोई अस्पताल। सिर्फ नया बना तो शराब के ठेके जिससे केजरीवाल पैसे कमा सके।  

आदेश गुप्ता ने कहा कि भ्रष्टाचार के पर्याय बन चुके केजरीवाल को आज सत्ता का नशा इतना ज्यादा चढ़ा है कि वे शराब माफियाओं को फायदा पहुचाने के लिए दिल्ली को नशे में झोक दिया है। उनके हर योजना के पीछे भ्रष्टाचार है। मनीष सिसोदिया भी उसमें अहम हिस्सा हैं। चाहे वह दिल्ली में खोले गए 850 शराब की दुकानें हो या फिर दिल्ली में किए गए स्कूल में कमरों की मरम्मत हो, मनीष सिसोदिया ने केजरीवाल के संरक्षण में खूब पैसे बनाए हैं और आज जब सीबीआई जांच में सिसोदिया फंसने वाले हैं तो केजरीवाल पहले से ही हल्ला शुरु कर दिए हैं कि सिसोदिया गिरफ्तार होने वाले हैं। उन्होंने कहा कि एक चोर को ही पता होता है कि उसने चोरी की है, इसलिए वह पहले से बोलना शुरु कर देता है, आज केजरीवाल के साथ भी कुछ ऐसा ही है।

– केजरीवाल ने मास्टर प्लान का उल्लंघन करते हुए खोले कई शराब के ठेके
रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि दिल्ली में केजरीवाल ने मास्टर प्लान का उल्लंघन करते हुए कई शराब के ठेके खोले। जबकि मनीष सिसोदिया खुद कहते थे कि दिल्ली में ऐसे 100 वार्ड हैं जहां नई शराब नीति के तहत शराब के ठेके नहीं खोले जा सकते। लेकिन जब शराब के ठेके खोलने के बदले पैसा मिलने लगा तो वे विधानसभा में कही गई बातों को भूलकर सभी 272 वार्डों में शराब के ठेके खोलने लगे। उन्होंने कहा कि प्राइवेट लैब में खुद ही अपने ब्रांड की क्वालिटी चेक करने की छूट देकर केजरीवाल ने ठेकेदारों को नकली शराब परोसने की खुली छूट दे रखी है। इतना ही नहीं बार और रेस्टोरेंट वालों को भी प्रतिबंधित किया जाता है कि वे शराब के ठेकों से शराब खरीदें।

– दिल्ली में महिलाएं, युवा और अन्य समाजिक वर्ग परेशान है
नेता विपक्ष बिधूड़ी ने कहा कि आज दिल्ली में महिलाएं, युवा और अन्य समाजिक वर्ग परेशान है। बीच बाजार में शराब के ठेके खुल रहे हैं और लोग शराब पीकर बीच बाजार में गिरे पड़े हुए हैं। महिलाएं बाज़ार में आने से असुरक्षित महसूस कर रही है। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने दिल्ली की जनता को धोखा दिया है। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया और केजरीवाल ने मिलकर दिल्ली में शराब के नाम पर लोगों को लूटने का काम किया है, जिसका हिसाब दिल्ली की जनता लेकर रहेगी और जब तक मनीष सिसोदिया गिरफ्तार नहीं हो जाते तब तक भाजपा का यह प्रदर्शन चलता रहेगा।

विरोध प्रदर्शन में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं विधायक विजेन्द्र गुप्ता, प्रदेश भाजपा महामंत्री दिनेश प्रताप सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष जयवीर राणा एवं बरखा सिंह, विधायक अजय महावर, मोहन सिंह बिष्ट, अभय वर्मा एवं अनिल बाजपेयी, पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष कौशल मिश्रा, एससी मोर्चा अध्यक्ष भूपेन्द्र गोठवाल, ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष संतोष पाल, किसान मोर्चा अध्यक्ष विनोद सहरावत, सहित प्रदेश, मोर्चा, जिला और मंडल के पदाधिकारी एवं बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

two × 4 =

Must Read