Monday, May 13, 2024
Homeताजा खबरेंCM केजरीवाल ईडी के सामने पेश नहीं होकर जांच से भाग रहे...

CM केजरीवाल ईडी के सामने पेश नहीं होकर जांच से भाग रहे हैं : सचदेवा

– सीएम केजरीवाल के इस्तीफे की मांग को लेकर दिल्ली भाजपा कार्यकर्ता राजघाट के बाहर धरने पर बैठे- केजरीवाल जिस ढकोसले के साथ आए थे वे सारे दावें खोखले सिद्ध हुए और आज केजरीवाल के भ्रष्टाचार की कहानी दिल्ली के बच्चों की जुबान पर है  – दिल्ली की जनता अब केजरीवाल का इस्तीफा चाहती है और ले कर रहेगी –  अपनी जेब भरने के लिए केजरीवाल द्वारा लाई गई शराब नीति ने दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के बाद संजय सिंह को जेल भेजा और अब स्वयं मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी जांच के घेरे में है – रामवीर सिंह बिधूड़ी
– डा. हर्षवर्धन, मनोज तिवारी, रमेश बिधूड़ी, विजय गोयल, आदेश गुप्ता, योगेन्द्र चंदोलिया एवं भाजपा विधायकों ने धरने को संबोधित कर केजरीवाल का इस्तीफा मांगा

नई दिल्ली 2 नवंबर 2023 : दिल्ली भाजपा के कार्यकर्ता और नेता अपने अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा के नेतृत्व में आज राजघाट के बाहर धरने पर बैठे। विधानसभा में विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी ने भी धरने को संबोधित किया।  सीएम अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे की मांग करते हुए बीजेपी कार्यकर्ताओं ने “केजरीवाल सच बोलो शराब घोटाले पर मुंह खोलो,” “केजरीवाल के खेल में सिसोदिया संजय जेल में” और “शराब का गंदे खेल में केजरीवाल के मंत्री जेल में” जैसे नारे लगाए। धरने पर बैठे कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए श्री वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा कि पिछले दो सालों से हम संघर्ष कर रहे हैं ताकि शराब घोटाले का सच सामने आए और आज वे सभी माताएं बहने जिन्होंने शराब के ठेके खोलने के खिलाफ संघर्ष किया था, जिनके ऊपर मुकदमें किए गए, उन सबका संघर्ष अब रंग ला रहा है और इसलिए आज अरविंद केजरीवाल को जांच का डर सता रहा है। सचदेवा ने कहा कि जिस दिन सुप्रीम कोर्ट ने मनीष सिसोदिया की जमानत याचिका रद्द की उस दिन सामने आए 338 करोड़ रुपये का मामला तो इस पूरे घोटाले का एक अंश है और अभी तो शराब माफियाओं को जो परसेंटेज बढ़ाकर 591 करोड़ रुपये कमाने का मौका दिया गया उसका  खुलासा होना बाकी है। ऐसा करने से दिल्ली के राजस्व को सिर्फ 70 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ। इस तरह से इस पॉलिसी के तहत आम आदमी पार्टी के नेताओं ने अपनी जेबे भरी।

दिल्ली भाजपा महासचिव योगेन्द्र चंदोलिया द्वारा संचालित धरने में उपस्थित लोगों में प्रमुख रूप से दिल्ली भाजपा के पूर्व अध्यक्ष डॉ. हर्ष वर्धन, विजय गोयल, मनोज तिवारी और आदेश गुप्ता, सांसद रमेश बिधूड़ी, विधायक मोहन सिंह बिष्ट, ओम प्रकाश शर्मा, अनिल बाजपेयी और जितेंद्र महाजन, दिल्ली भाजपा पदाधिकारी दिनेश प्रताप सिंह, प्रवीण शंकर कपूर, सारिका जैन, किशन शर्मा, विक्रम मित्तल,  अनीस अब्बासी,  शशि यादव, सी.एल. मीना, ऋचा पांडे मिश्रा, जिलाध्यक्ष विजेन्द्र धामा, मनोज त्यागी, पूनम चौहान, वीरेंद्र गोयल, कुलदीप सिंह, राजीव राणा, सुनील कक्कड़, रमेश शौखंदा, सिया राम शरण, संजय गोयल सहित अन्य उपस्थित थे।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आज अरविंद केजरीवाल ईडी के सामने पेश नहीं हुए क्योंकि वह जांच से भाग रहे हैं और आखिर कब तक भागेंगे। जैसे करोगे वैसे ही भरना होगा और आज दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल अपने कर्मों की भरपाई कर रहे हैं। सचदेवा ने कहा कि अभी इस पूरे मामले की लड़ाई पूरी नहीं हुई है और हमारा संघर्ष आगे भी जारी रहेगा। केजरीवाल जिस ढकोसले के साथ आए थे वह सारे दावें खोखले सिद्ध हुए और केजरीवाल के भ्रष्टाचार की कहानी दिल्ली के बच्चों की जुबानी है। दिल्ली की जनता अब केजरीवाल का इस्तीफा चाहती है और ले कर रहेगी। 

रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि भाजपा शुरू से कहती रही है कि इस शराब घोटाले के असली सूत्रधार अरविंद केजरीवाल हैं और आज यह बात साबित हो गई है। हमने इस शराब घोटाले की विरोध विधानसभा में भी किया लेकिन अपनी जेब भरने के लिए केजरीवाल द्वारा लाई गई शराब नीति ने दिल्ली के पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के बाद संजय सिंह को जेल भेजा और अब स्वयं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी जांच के घेरे में  हैं। बिधूड़ी ने कहा कि भाजपा के संघर्षों का ही नतीजा है कि आज सीएम अरविंद केजरीवाल के पास खुद को निर्दोष साबित करने के लिए बहाने बनाने की जरूरत पड़ रही है। उन्होंने कहा कि जब तक केजरीवाल अपने पद से इस्तीफा नहीं देते तब तक भाजपा का संघर्ष जारी रहेगा।  

डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि राजनीति में आने से पहले केजरीवाल ने बच्चों की कसमें खाई थी लेकिन फिर भी राजनीति में आए और फिर उन्होंने एक लिस्ट लेकर घूमने लगे जिसमें देश के कई नेताओं का नाम था उनके साथ गठबंधन ना करने की बात करने लगे लेकिन आज उन्हीं के साथ महा ठगबधन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लोगों के साथ कई सारे वायदे किए लेकिन आज उन वायदे का क्या हुआ दिल्ली समझ चुकी है। आज उनके द्वारा लिखी गई चिट्ठी भी पढ़कर ऐसा लगा जैसे वह अब बचने की रोज नई तरकीब निकाल रहे हैं।

मनोज तिवारी ने कहा कि आज उन्होंने ईडी को जो चिट्ठी लिखी है वह साबित कर रही है कि उनसे बड़ा कोई घोटालेबाज हो नहीं सकता। मनीष सिसोदिया ने जब सुप्रीम कोर्ट में बेल के लिए अप्लाई किया तो कोर्ट का साफ कहना था कि इस पूरे प्रकरण में 338 करोड़ रुपए की लूट सिद्ध हो रही है लेकिन इसके बावजूद अरविन्द केजरीवाल कह रहे हैं कि भाजपा फंसाने की कोशिश कर रही है। तिवारी ने कहा यदि एक सत्ता पक्ष में बैठी पार्टी लूट मचाएं और विपक्ष उसको उजागर भी ना करें तो फिर विपक्ष में रहने का क्या लोकतांत्रिक कर्तव्य है। आज केजरीवाल ने दिल्ली को गंदा पानी और टूटी सड़कों के अलावा कुछ नहीं दिया है।

रमेश बिधूड़ी ने कहा कि जो कभी कांग्रेस को चोर कहते थे और शीला दीक्षित के खिलाफ 900 पन्नों के भ्रष्टाचार का खुलासा करते थे आज वही कांग्रेस के साथ नतमस्तक हो रहे हैं। जिस आदमी ने अपने पूरे राजनीतिक जीवन लोगों को गुमराह करने की कसमें खाई हो उससे किसी काम या विकास की उम्मीद नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा कि आज अगर दिल्ली को बचाना है तो हमें खुद आगे आकर केजरीवाल के भ्रष्टाचारी करतूतों की पोल खोलनी चाहिए। विजय गोयल ने कहा कि जब अरविंद केजरीवाल पहली बार सरकार में आए तो उन्होंने कहा था अगर हमारा मंत्री कोई भ्रष्टाचार में पकड़ा जाता है तो वह जेल जाएगा मैं उसे जेल भेजूंगा और आज जब खुद पर जांच की बारी आई तो कह रहे हैं कि कोई भ्रष्टाचार ही नहीं हुआ। आदेश गुप्ता ने कहा कि इस पूरी शराब नीति में अगर भ्रष्टाचार नहीं हुआ होता तो आज मनीष सिसोदिया जेल के अंदर नहीं होते और कोर्ट बार बार उनकी जमानत खारिज नहीं करती।  लेकिन यह सब अरविंद केजरीवाल के साथ मिलीभगत है और इसकी पकड़ में अब संजय सिंह के बाद खुद केजरीवाल भी आ गए हैं। योगेन्द्र चंदोलिया ने कहा भाजपा का हर कार्यकर्ता अब केजरीवाल सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर करके उनके इस्तीफे की मांग को लेकर सड़क पर आ गया है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments