Homeटेक्नोलॉजीकांग्रेस ने एमसीडी चुनावों के लिए सभी 250 वार्डों में उतारे हैं जमीनी स्तर...

कांग्रेस ने एमसीडी चुनावों के लिए सभी 250 वार्डों में उतारे हैं जमीनी स्तर के मजबूत उम्मीदवार : भारद्वाज

– एनजीटी ने दिल्ली सरकार पर  पर 900 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया – कांग्रेस ने एमसीडी चुनावों के लिए सभी 250 वार्डों में जमीनी स्तर के मजबूत उम्मीदवार उतारे हैं, जो भाजपा और आप दोनों पार्टियों के झूठ और भ्रष्टाचार को उजागर करेंगे – दिल्ली में गन्दगी के लिए बीजेपी और आप पार्टी एक-दूसरे को ही दोषी ठहराते रहते है जबकि कांग्रेस सरकार ने विश्व प्रसिद्ध मिलेनियम पार्क बनाने के लिए रिंग रोड पर निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास कचरा डंप हटाया था – बीजेपी और आप के खोखले जुम्लों से कैसे उभरेगी दिल्ली की जनता : भारद्वाज


नई दिल्ली, नवंबर 15, 2022- दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संचार विभाग के अध्यक्ष अनिल भारद्वाज, पूर्व विधायक ने कहा कि कांग्रेस ने एमसीडी चुनावों के लिए जमीनी स्तर के मजबूत उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जो स्थानीय समस्याओं को भली-भाती जानते हैं । साथ ही उन्होंने कहा कि पिछले 15 सालों से बीजेपी और 8 सालों से आम आदमी पार्टी अपने भ्रष्टाचार और विफलताओं को छुपाने के लिए दिल्ली के मतदाताओं को झूठे जुम्लों में गढ़कर गुमराह करने की लगातार कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अब दिल्ली की जनता इन दोनों पार्टियों की सच्चाई से रूबरू हो चुकी है कि भाजपा और आप पार्टी केवल खोखले वादें करना जानती है इसके अलाव और कुछ नहीं करती। उन्होंने कहा कि आने वाले नगर निगम के अन्तिम नतीजों में दिल्ली की जतना भाजपा और आप पार्टी को उनके द्वारा किए गए खोखले वादों का परिणाम दिखा देगी।
 
अनिल भारद्वाज ने कहा कि भाजपा और आप पार्टी दोनों जगह-जगह लगे कूड़े के ढेर और तीन कूड़े के पहाड़ को लेकर आरोप-प्रत्यारोप में लगे रहते हैं, लेकिन ये दोनों भ्रष्ट पर्टी इस बात को स्वीकार नहीं करती कि इनके भ्रष्टाचार और निष्क्रियता के कारण ही  दिल्लीवासियों को गंदगी के बीच रहने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। अनिल भारद्वाज ने कहा कि यह कांग्रेस सरकार की ही देन है कि दिल्ली को आधुनिक और सुंदर शहरों में गिना जाता है इसके अलावा कांग्रेस सरकार ने निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास रिंग रोड पर प्रतिष्ठित मिलेनियम पार्क के लिए कचरे के ढेर को हटाया था, जोकि आज दिल्ली का एक प्रमुख स्थल बन गया है, जंहा भ्रमण और रिलेक्स के लिए आएदिन लोगों की भीड़ लगी रही। उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार ने राजधानी की हवा और पानी को प्रदूषित कर दिया है जो दिल्ली की जनता के लिए दिए एक बड़ी समस्या बनी हुई है।
 
भारद्वाज ने कहा कि भाजपा ने स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर हजारों करोड़ रुपये खर्च किए, लेकिन यह अभियान दिल्ली की गंदगी और कूड़ा-करकट को साफ नहीं कर पाए। स्वच्छ भारत अभियान  एक नारा ही बनकर रह गया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल ने दिल्ली में कचरे के पहाड़ों को दूसरे देशों की आधुनिक तकनीकों की मदद से समतल करने का वादा किया लेकिन उन्होंने अपना वादा पूरा नहीं किया और पिछले कुछ वर्षों में कचरे के पहाड़ और अधिक बढ़ चुके है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में असहनीय गंदगी और कूड़े के पहाड़ के कारण नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने दिल्ली सरकार पर  पर 900 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया, जोकि दिल्ली के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है। उन्होंने कहा कि भाजपा और आप पार्टी एक दूसरे पर भुगतान में देरी के लिए आरोप प्रत्यारोप के कारण सफाई कर्मचारियों को अपना वेतन पाने के लिए अक्सर हड़ताल करनी पड़ती है। उन्होंने कहा कि संविधा के आधार पर काम कर रहे सफाई कर्मचारियों को नियमित करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है।
 
अनिल भारद्वाज ने कहा कि एनजीटी द्वारा दिल्ली सरकार को 280 लाख मीट्रिक टन कचरे के तीन पहाड़ों को साफ करने का निर्देश देने के तीन साल बाद केवल 59 लाख मीट्रिक टन ही साफ किया जा सका, जो भाजपा और केजरीवाल सरकार दोनों की अक्षमता और अक्षमता को उजागर करता है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में टूटी सड़कें, वायु प्रदूषण और दूषित पेयजल दिल्ली राज्य की प्रमुख समस्याऐं है। उन्होंने कहा कि बारिश के समय सड़कों 70प्रतिशत पानी भर जाता है जिससे यात्रियों को अत्यधिक परेशानियों का सामना करना पड़ता क्यों कि समय पर नालों से गाद नहीं निकाली जाती है जबकि एमसीडी और दिल्ली सरकार ने नालों से गाद निकालने के नाम पर हजारों करोड़ रूपयों का घोटाला किया है।


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

thirteen − 3 =

Must Read