Homeअंतराष्ट्रीयकेजरीवाल सरकार द्वारा नई आबकारी नीति में किये भ्रष्टाचार के खिलाफ आप...

केजरीवाल सरकार द्वारा नई आबकारी नीति में किये भ्रष्टाचार के खिलाफ आप मुख्यालय के बाहर दिल्ली भाजपा अधिवक्ता प्रकोष्ठ ने किया विरोध प्रदर्शन

  • – मधुशाला की चोरी पाठशाला के पीछे चुराने की कोशिश करने वाले केजरीवाल की दोनों चोरी पकड़ी गई- सिसोदिया की चोरी पकड़े जाने पर अब वह अपने एल-1 के ठेकेदार को भी पहचानने से इंकार कर रहे हैं- जब तक सिसोदिया को मंत्रिमंडल से बर्खास्त नहीं किया जाता तब तक भाजपा का संघर्ष जारी रहेगा : वीरेन्द्र सचदेवा

नई दिल्ली, 8 सितम्बर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष वीरेन्द्र सचदेवा की अगुवाई में आज दिल्ली भाजपा अधिवक्ता प्रकोष्ठ ने आईटीओ चौक पर नई आबकारी नीति में हुए भ्रष्टाचार के खिलाफ जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। विरोध प्रदर्शन में जोरदार नारेबाजी करते हुए सभी अधिवक्ता आईटीओ चौक से आम आदमी पार्टी कार्यालय तक गए जहां उन्होने मनीष सिसोदिया को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने की मांग की और उनके पुतले फूंके।

वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा कि मधुशाला की चोरी पाठशाला के पीछे चुराने की कोशिश करने वाले केजरीवाल की दोनों चोरी पकड़ी गई। आज आबकारी नीति में हुए भ्रष्टाचार का जवाब केजरीवाल नहीं दे पा रहे हैं और जिस झूठे शिक्षा मॉडल का प्रचार वह कर रहे थे उसमें भी भ्रष्टाचार का उजागर हो चुका है। उन्होंने कहा कि स्टिंग मास्टर मनीष सिसोदिया की करतूतों पर जब स्टिंग हो गया है तो वे अब पत्रकारों के सवालों से बचकर भाग रहे हैं, लेकिन उनके भागने से कुछ नहीं होगा। जब तक वह इस भ्रष्टाचार को कबूल नहीं करते तब तक उनसे ऐसे ही सवाल भाजपा और दिल्ली की जनता पूछती रहेगी।

वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा कि नई आबकारी नीति में शराब माफियाओं की मिली भगत अब पूरी तरह से स्पष्ट हो चुकी है और कमीशन 2 फीसदी से बढ़ाकर 12 फीसदी करने का मकसद अब साफ तौर पर सामने आ चुका है।

केजरीवाल की सरकार में नशा, बेईमानी, लूट और भ्रष्टाचार को ही सिर्फ बढ़ावा मिला है और जब इसकी पोल खुल गयी है तो मनीष सिसोदिया वैसे एल-1 ठेकेदार को मानने से इनकार कर देते हैं जिनको इन्होंने एयरपोर्ट जॉन का ठेका दिया और 30 करोड़ रुपये वापस तक किये। नई आबकारी नीति में जिस तरह का भ्रष्टाचार हुआ है, वह सबके सामने आ चुका है। शराब के नाम पर हुए हज़ारों करोड़ रुपये के घोटाले में अरविंद केजरीवाल का सीधा- सीधा हाथ है। विरोध प्रदर्शन में मुख्य रूप से के के त्यागी और नीरज शर्मा सहित अन्य अधिवक्ता मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

9 + 13 =

Must Read